इस युवा का क़द छोटा जरूर पर हौसला हैं बुलंद, बना भारतीय सेना में अधिकारी!

,

आज हम आपको बताते हैं की आसमान कितना भी ऊंचा क्यों न हो मगर अगर आप हौसला रखे तो उसे पाना कोई नै बात नहीं। बस ज़रूरी है लगातार मेहनत करते रहना। मिज़ोरम के रहने वाले लेफ़्टिंनेंट लल्ह्मछुआना इस बात की जीती-जागती मिसाल हैं।

हाल ही, भारतीय सेना अकादमी की पासिंग आउट परेड हुई। कई नौजवान भारतीय सेना की अलग-अलग रेजिमेंट्स में अफ़सर बने, उनमें से एक नाम Lt. Lalhmachhuana का भी है, जो भारतीय सेना की प्रतिष्ठित आर्टिलरी रेजिमेंट में अधिकारी बने हैं। इनकी ख़ास बात ये है कि उनकी हाइट बहुत कम है और भारतीय सशस्त्र बलों में उनके शारीरिक क़द का अधिकारी बनना नामुमकिन हैं। ऐसे में उनका भारतीय सेना में अधिकारी बनना बहुत से नौजवानों को प्रेरित करेगा।

Lt. Lalhmachhuana

मिज़ोरम के मुख्यमंत्री ज़ोरामथांगा ने उनकी इस उपलब्धि के लिए तारीफ की हैं, ‘मिजोरम को गर्व है अपने खुद के Lt. Lalhmachhuana पर, जो उत्तर रामहलुन में रहने वाले Lalsangvela के बेटे हैं। Lt. Lalhmachhuana को भारतीय सेना की प्रतिष्ठित आर्टिलरी रेजिमेंट में अधिकारी बनाया गया है। ’

 

हालांकि, Lt. Lalhmachhuana जो कि अनुसूचित जनजाति श्रेणी से आते हैं, उनकी असल लंबाई के बारे में फ़िलहाल जानकारी नहीं है। वैसे जानकारी के अनुसार ‘एक अधिकारी के रूप में भारतीय सशस्त्र बलों में प्रवेश के लिए न्यूनतम ऊंचाई की आवश्यकता 157 सेमी (5.15 फ़ुट) है. हालांकि, पूर्वोत्तर, असमिया, गोरखाओं और अन्य आदिवासियों के लिए छूट है। इस श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए स्वीकार्य न्यूनतम ऊंचाई 152 सेमी (4.9 फ़ुट) है। ’

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *