क्या करते हैं गांधी परिवार से जुड़े तीनो ट्रस्ट, जिनकी फंडिंग की जांच-पड़ताल करेगा गृह मंत्रालय?

इन दिनों गांधी परिवार के तीन ट्रस्टों में कथित वित्तीय गड़बड़ियों को लेकर जमकर राजनीती हो रही हैं। इसके बाद अब केंद्रीय गृह मंत्रालय गांधी परिवार से जुड़े तीन ट्रस्टों में कथित वित्तीय गड़बड़ियों को लेकर जांच करेगा। गृह मंत्रालय ने इसके लिए एक अंतर-मंत्रालयी समिति बनाई है, जो कि राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट की जांच करने का काम करेगी। जांच की अगुआई ईडी के एक स्पेशल डायरेक्टर करेंगे।

दरअसल, भारत और चीन के बीच जारी विवाद के बीच जब कांग्रेस पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार को लगातार घेरने में जुटी थी। ऐसे में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की ओर से आरोप लगाया गया कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से फंडिंग मिलती थी।

political-party

तो आये अब जानते हैं इन तीनो ट्रस्टों का काम क्या हैं :

क्या करता हैं राजीव गांधी फाउंडेशन :

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सपने को पूरा करने और उनके लक्ष्यों को आगे बढ़ाने के लिए 21 जून 1991 को सोनिया गांधी ने इसकी शुरुआत की थी। गांधी परिवार इस फाउंडेशन के जरिए स्वास्थ्य, शिक्षा, विज्ञान और तकनीक, महिला एवं बाल विकास, दिव्यांग सहयोग, शारीरिक रूप से निशक्तों की सहायता, पंजायती राज, प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन आदि क्षेत्रों में काम करता है।

rgfindia

संघर्ष से प्रभावित बच्चों को शैक्षणिक मदद, शारीरिक रूप से निशक्त युवाओं की गतिशीलता बढ़ाने और मेधावी भारतीय बच्चों को कैंब्रिज में पढ़ने हेतु वित्तीय सहायता आदि जैसे कार्यक्रम फाउंडेशन की ओर से चलाए जाते हैं। राजीव गांधी फॉउंडेशन का कामकाज डोनेशन से मिलने वाली रकम से चलता है, इस फाउंडेशन की अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं।

अब जाने राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट के बारे मैं :

राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट का गठन साल 2002 में हुआ था। इसके उद्देश्यों में देश के वंचित समाज, खासकर ग्रामीण गरीबों के विकास संबंधी जरूरतों की पूर्ति में मदद करना शामिल है। यह ट्रस्ट इस समय राजीव गांधी महिला विकास परियोजना तथा इंदिरा गांधी आई हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर परियोजनाओं के तहत उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के बेहद पिछड़े इलाकों में काम कर रहा है।

rajiv_gandhi_trust

यह ट्रस्ट उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में महिला सशक्तीकरण के लिए सक्रिय है।

क्या हैं इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट का काम :

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 1994 में हत्या के बाद इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट की स्थापना 1985 में गई. यह ट्रस्ट पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के जीवन के आदर्शों को प्रचारित करने के साथ-साथ उनकी यादों को सहेजकर रखने का काम करती है। इस ट्रस्ट के जरिए कांग्रेस पार्टी नेहरू-गांधी के विचारों को लेकर शोध कराने से लेकर तमाम सामाजिक कार्य करने का काम करती है। इसके अलावा हर साल इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी फोटो प्रदर्शनी लगाता है।

INDIRA GANDHI. Memorial Trust

इंदिरा गांधी मेमोरिल ट्रस्ट’ 1986 से हर साल विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति या संगठनों को ‘इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार’ प्रदान करता है, जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास कार्य में महत्वपूर्ण योगदान दिया हो। इस पुरस्कार में 25 लाख रुपये रुपये नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाता है। इंदिरा मेमोरियल ट्रस्ट उत्कृष्ट कार्य और उपलब्धियों के लिए 30 अंतरराष्ट्रीय हस्तियों और संस्थानों को सम्मानित कर चुका है।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *