jyoti-a-15-Year-Old-Girl-Cycles-1200-Km

इस तालाबंदी मैं 15 साल की बच्ची ने अपने घायल पिता को सायकल पर बैठाकर 600 किलोमीटर की यात्रा की।

,

इस 15 साल की बच्ची को देखे, इस उम्र मैं आम बच्चे अपने घरो मैं रहते हैं जिन्हे घर के कामो और किसी भी चीज़ो की कोई चिंता नहीं होती उस उम्र मैं इस बच्चीं ने सायकल पर अपने पिता को घर ले जाने का बेडा उठाया। यह बच्ची वाकय कमाल की हैं।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए ज्योति ने बताया :

बहुत सारे मजदुर रस्ते पर पैदल चल रहे थे, इसकी वजह मुझे रात मैं सायकल चलाने से डर नहीं लगा, पर थोड़ा सा डर रोड पर भारी वाहनोंभारी वाहनों से था क्योंकि अभी कुछ दिनों मैं बहुत सी रोड दुर्घटनाये हुयी थी।

आगे कहा :

हमारे पास पैसे नहीं बचे थे और मकानमालिक ने भी पैसे ना दे पाने की वजह से मकान खली करने के लिए बोला था, कोई भी हमारी मदद नहीं कर रहा था तो फिर हमने अपने घर जाने का प्लान बनाया। हमने कुछ ट्रक ड्राइवर से भी बात की वे 6000 रूपए मांग रहे थे दिल्ली से दरभंगा तक का और हमारे पास पैसे नहीं थे फिर मेने अपने पिता जी से कहा हम सायकल से चलते हैं। पूरी यात्रा हमने 6 दिनों मैं पूरी की।

जब वो लोग दरभंगा पहुंच गए सभी लोग आश्चयचकित हो गए की ज्योति ने 600 किलोमीटर यात्रा सायकल पर की। अभी फिलहाल वो क्वारंटाइन कर दिए गए हैं. ये तो पता चलता हैं की इस बच्ची जोश कितना हाई हैं।

2 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *