टिकटोक जैसा मित्रों एप स्वदेशी नहीं हैं, इसका हैं पाकिस्तानी कनेक्शन, जाने क्या हैं ?

,

इन दिनों हम लोगो ने टिकटोक को बायकॉट करने के लिए मित्रों एप का सहारा लिया हैं जिसे खः भी जा रहा हैं की ये एप टिकटोक को प्रतिस्पर्ध दे सकता हैं इसी बीच हम आपको बताते हैं की Mitron ऐप भारत में नहीं बनाया गया है। एक पाकिस्तानी सॉफ्टवेयर डेवलपर Qboxus से इसे खरीदा गया है।

जी हाँ ! इस बात का खुलासा एक रिपोर्ट मैं हुआ हैं, हालांकि फिर भी भारतीय मूल का ऐप कहलाने के कारण इसे भारत में बड़े पैमाने पर डाउनलोड किया जा रहा है। मित्रों नाम से जुड़ी एक दिलचस्प बात यह भी है कि इस शब्द को अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भी कई बार बोला जाता है। मित्रों का मतलब दोस्त भी होता है और कहीं न कहीं ये लोगों को देशी ऐप होने का अहसास भी दिलाता हैं, लेकिन मित्रों ऐप वास्तव में TicTic ऐप का रीब्रांडेड वर्ज़न है, जिसे Qboxus नामक एक पाकिस्तानी डेवलपर द्वारा बनाया गया था।

MitronApp-01

सोर्स : गूगल

TicTic ऐप बनाने वाली कंपनी Qboxus के संस्थापक और सीईओ इरफान शेख ने News18 को बताया कि उन्होंने ऐप के सोर्स कोड को Mitron के निर्माता को 34 डॉलर यानी लगभग 2,500 रुपये में बेचा है।शेख ने आगे बताया कि उनकी कंपनी सोर्स कोड बेचती है, जिससे खरीदार ऐप को कस्टोमाइज़ करते हैं। उन्होंने नेटवर्क 18 में कहा, “डेवलपर ने जो किया है, उससे कोई समस्या नहीं है।

mitron-app

सोर्स : गूगल

मित्रो एप के निर्माता की पहचान की अभी भी पुष्टि नहीं हुई है, हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि यह आईआईटी रुड़की के एक छात्र द्वारा बनाया गया था। Google Play पर Mirton ऐप डेवलपर का वेब पेज एक वेबसाइट shopkiller.in पर ले जाता है, जो एक खाली पेज है।

mitronApp

सोर्स : गूगल

ऐप में किसी प्रकार की प्राइवेसी पॉलिसी भी नहीं है, इसलिए जो लोग इसके लिए साइन-अप कर रहे हैं और अपने वीडियो अपलोड कर रहे हैं – उन्हें शायद पता नहीं है कि उनके डेटा के साथ क्या किया जा रहा है।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *