अमानवीय कृत्य, केरल में गर्भवती हथिनी पटाखों से भरे अनानास खाने के बाद मर जाती है!

,

केरल में एक गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत हो गई, यह पशुओ के प्रति मानवीय कुरर्ता का जीता जगता उदहारण हैं। बताया गया की इसकी मौत पटाखे से भरे अनानास को खाने से हो हुयी। यह घटना अट्टापदी के साइलेंट वैली के फ्रिंज इलाकों से हुई थी। कहा जाता हैं कुछ लोकल्स ने पटके से भरे अन्नानास वहां पर रखे थे। अन्नानास खाते ही उसके मुँह मैं पटाखे फट गए, जिससे उसका जबड़ा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।

मोहन कृष्णन जी जो की फारेस्ट रैपिड रिस्पांस टीम का हिस्सा हैं उन्होंने फेसबुक पर लिखा हैं :

elephant-in-kerala-died

“जब उसने सब पर विश्वास किया। जब उसने अनन्नास खाया और फिर वो फूटा तब वह अपने बारे मैं नहीं तो न लेकिन उसके गर्भ मैं पल रहे बच्चे के बारे मैं जरूर सोचा होगा। क्यंकि वह 18 से 20 महीने में जिस बच्चे को जन्म देने जा रही थी, उसके बारे में सोचकर वह चौंक गई होगी।”

उसके मुंह में इतना शक्तिशाली पटाखा विस्फोट था कि उसकी जीभ और मुंह बुरी तरह घायल हो गए। हाथी दर्द और भूख में, गाँव में घूमता रहा। चोट लगने के कारण वह कुछ भी नहीं खा पा रही थी।

“गाँव की गलियों में दर्द से कराहते हुए भी उसने एक भी इंसान को नुकसान नहीं पहुँचाया। उसने एक भी घर नहीं उखाड़ा। यही कारण है कि मैंने कहा, वह अच्छाई से भरी थी ”

हाथी अंततः वेलियार नदी तक चला गया और वहां खड़ा हो गया। तस्वीरों में दिखाया गया है कि हाथी नदी में अपने मुंह और पानी में डूबा हुआ है, शायद असहनीय दर्द से कुछ राहत के लिए। वन अधिकारी ने कहा कि उसने अपनी चोटों पर मक्खियों और अन्य कीड़ों से बचने के लिए ऐसा किया होगा।

रैपिड रेस्क्यू टीम ने घायल हाथी को पानी से बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन वह भी कुछ नहीं कर पाए।

हथिनी को एक ट्रक में जंगल के अंदर वापस ले जाया गया, जहां वन अधिकारियों ने उसका अंतिम संस्कार किया।

वन अधिकारी ने कहा “उसे वह विदाई दी जानी चाहिए जिसकी वह हकदार है। उसके लिए, हम उसे एक लॉरी में जंगल के अंदर ले गए। वह जलाऊ लकड़ी पर लेटी थी, जिस भूमि में वह खेलती थी और बड़ी हुई थी। उसका पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने मुझे बताया कि वह अकेली नहीं थी। मैं उनकी उदासी को महसूस कर सकता था हालांकि उनके चेहरे पर अभिव्यक्ति उनके मुखौटे के कारण दिखाई नहीं दे रही थी। हमने वहां एक चिता में उसका अंतिम संस्कार किया। हम उसके सामने झुक गए और हमारे अंतिम संस्कार किया, ”

सरासर अमानवीय कृत्य ने लोगों को नाराज कर दिया है। कई लोगों ने सोशल मीडिया पर कार्रवाई के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। लोग पोस्टर और स्केच से अपनी नाराजगी जाहिर की।

सरासर अमानवीय कृत्य हैं। हम लोग स्तब्ध हैं

1 reply

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *