दुनिया की बेस्ट 100 यूनिवर्सिटीज़ में शामिल ‘Lund University’ को नाम के कारण हो रही हैं बहुत प्रोब्लेम्स

,

इस दुनियाभर में कई हज़ार भाषाएं बोली जाती हैं। इस दौरान कई शब्द ऐसे होते हैं जो होते तो एक सामान हैं, लेकिन उनका हर देश में अलग-अलग मतलब होता है। इन्ही शब्दों के फेर में इन दिनों भारत और स्वीडन के लोग भी फंसे हुए हैं।

आपको बता दें की, स्वीडन की ‘Lund University’ दुनिया की जानी मानी यूनिवर्सिटी है। दुनिया की टॉप 100 यूनिवर्सिटीज़ में इसका नाम आता है। लेकिन पिछले काफ़ी समय से इस यूनिवर्सिटी को अपने नाम के चलते भारत में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

lund-univercity4

सोर्स : University

वैसे तो , इस यूनिवर्सिटी का नाम स्वीडन के हिसाब से तो ठीक है, लेकिन भारत में इसे एक अलग नज़रिए से देखा जाता है। भारत में आम बोलचाल की भाषा में भी इस शब्द को थोड़ा असहजता के साथ प्रयोग किया जाता है। अब ‘Lund University’ के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज के एडमिन को भी इस नाम के चलते कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। हाल ही में इस मुद्दे को लेकर लुंड यूनिवर्सिटी को एक स्टेटमेंट भी जारी करना पड़ा था।

सोर्स : University

इस दौरान यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना था कि, पिछले 10 सालों से हम अपना फ़ेसबुक पेज चला रहे हैं। हम ये भी जानते हैं कि यूनिवर्सिटी का ये नाम काफ़ी इंटरेस्टिंग भी है। लेकिन इस दौरान कई लोग ऐसे भी हैं जो तरह-तरह के गंदे और अश्लील कमेंट्स करते हैं। हम अब तक हज़ारों कमेंट्स डिलीट कर चुके हैं।

सोर्स : University

दरसल सन 1666 में बनी ‘Lund University’ स्वीडन की सबसे प्राचीन यूनिवर्सिटी में से एक है। इस यूनिवर्सिटी में दुनियाभर के 170 देशों के स्टूडेंट्स पढ़ते हैं। जबकि Lund दक्षिणी स्वीडन के एक मध्यकालीन शहर का नाम है। इस शब्द का अर्थ है ‘Green Area’ यानि हरा क्षेत्र और स्वीडिश भाषा में इसे अलग तरीक़े से उच्चारित किया जाता है।

सोर्स : University

इस दौरान सास्वता सरकार नाम की एक फ़ेसबुक यूज़र ने लिखा,

‘हैलो दोस्तों! आप में से जो लोग भी स्वीडन की इस यूनिवर्सिटी का मजाक उड़ा रहे हैं और अश्लील कंटेंट अपने दोस्तों के साथ शेयर कर रहे हैं। ऐसा करके आपने यूनिवर्सिटी को बदनाम करने के साथ-साथ देश का नाम मिट्टी में मिलाने की शर्मनाक हरक़त की है।’

‘देश के ऐसे उज्ज्वल भविष्य को बधाई! मुझे आशा है कि आप इसे अपनी ग़लती समझेंगे और इसकी जिम्मेदारी लेंगे। मुझे आप सभी को टैग करने में भी शर्म आ रही है। मैं ‘Lund University’ से इसके लिए माफ़ी मांगती हूं। मुझे आश्चर्य है कि जब हमने ऐसे लोगों का कोई विरोध किया तो बदले में हमें इस तरह की कमैंट्स मिल रहे हैं।’

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *