कोरोना वायरस के हॉटस्पॉट रहे धारावी में सामने आया सिर्फ़ 1 नया केस, अब ‘धारावी मॉडल’ की हो रही है चर्चा

,
flattening of curve

इन दिनों हमारे देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। अब हमारे देश में कोरोना से तक़रीबन 7 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 20 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो भी चुकी है। इस बीच देश में कोरोना के सबसे अधिक प्रभावित हमारे बड़े शहर हैं। जिसमे मुंबई, दिल्ली,चेन्नई, बैंग्लोर, इंदौर, जैसे महानगर शामिल हैं।

पिछले कुछ दिनों से अब महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से अच्छी ख़बर सामने आई है। एशिया के सबसे बड़े स्लम के रूप में विख्यात ‘धारावी’ को कुछ समय पहले तक मुंबई का वुहान कहा जा रहा था। लेकिन बीते मंगलवार को धारावी से कोरोना का केवल 1 मामला सामने आया है।

फिल्म नगरी मुंबई में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच कोरोना संक्रमण फ़ैलाने के लिए बदनाम धारावी ने सबको हैरान कर दिया है। कल तक जिस धारावी की ख़बरें ‘हेट स्टोरी’ की तरह छप रही थीं, आज उसी धारावी की ‘सक्सेस स्टोरी’ की चर्चा हो रही है। इसके पीछे का कारण है धारावी मैं कोरोना के काम केस आना। बता दें कि मुंबई मैं अकेले धारावी से ही कोरोना के 2,335 मामले सामने आ चुके हैं। धारावी में कोरोना का पहला मामला 3 महीने पहले 1 अप्रैल को सामने आया था। क़रीब 3 किलोमीटर के क्षेत्र में फ़ैले धारावी में क़रीब 7 लाख लोग रहते हैं।

dharavi-mumbai

जाने कैसे कम हुआ धारावी में कोरोना संक्रमण ?

बीएमसी को धारावी में कोरोना के मरीज़ों को ठीक करने और कोरोना को ख़त्म करने के लिए काफ़ी मेहनत करनी पड़ी हैं। इसके लिए बीएमसी ने एक मॉडल तैयार किया जिसकी चर्चा आज मुंबई के साथ ही देशभर में हो रही है। धारावी मॉडल के तहत बीएमसी ने एनजीओ, राज्य सरकार और अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर तकरीबन 4 लाख से अधिक घरों में सर्वेक्षण किया। इस सर्वेक्षण में कोरोना के कम लक्षण वाले मरीज़ों को भी शुरुआत में ही क्वारंटाइन कर दिया गया।

dharavi_pti

इस दौरान कोरोना से जंग जीतने के लिए मरीज़ों ने भी प्रशासन का साथ दिया। धारावी के लोगो ने क्वारंटीन सेंटर में जो कुछ भी प्रशासन की तरफ़ से खाने पीने के लिए दिया गया उसे मरीज़ों ने स्वीकार किया। लोगों की तरफ़ से प्रशासन को पूरा सहयोग दिया गया और प्रशासन ने भी धारावी के लोगों का पूरा ख्याल रखा।

अब धारावी मॉडल को पूरी मुंबई में लागू करने की तैयारी

मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि, अब धारावी का मॉडल पूरे मुंबई शहर में लागू किया जाएगा। धारावी में बीएमसी ने अलग अलग इलाक़ों में क्वारंटीन सेंटर बनाए थे, जिनमें कुल 3800 बेड थे। बीएमसी इसमें से 1000 बेड कम करके उन्हें कहीं और इस्तेमाल करने पर विचार कर रही है।

corona-worriers

बता दें कि महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना के 6,875 नए मामले सामने आए थे। इसके साथ ही महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 2,17,121 से भी ज्यादा हो गई है।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *