yo_yo_honey_singh-shahrukh

जब बाइपोलर डिसऑर्डर से गुज़र रहे थे यो यो हनी सिंह तब दीपिका पादुकोण ने की थी उनकी मदद

,

बॉलीवुड में अपने रैप से और म्यूजिक से दर्शकों के दिलों में उतरने वाले रैपर यो यो हनी सिंह ने अपने जीवन में बुरे दिन भी देखे हैं। मानसिक बीमारी से लड़ते हुए हनी सिंह 18-21 महीने अपने घर पर बंद ही रहे थे। हाल ही में उन्होंने बताया कि इस दौरान दीपिका पादुकोण और शाहरुख ख़ान ने उनकी मदद की। दीपिका मेंटल हेल्थ के प्रति लोगों को जागरूक करती रहती हैं। उन्होंने हनी सिंह की फ़ैमिली को दिल्ली के एक डॉक्टर का नंबर भी दिया था।

yo-yo

पिंकविला को दिए एक इंटरव्यू में हनी सिंह कहते हैं, “वह बहुत ही बुरा वक़्त था, जब मेरी मेंटल कडीशन सही नहीं थी। मुझे एल्कोहल की लत भी लग गयी थी। मैं सोता भी नहीं था जिससे ये बीमारी और बढ़ गयी। मुझे 3-4 महीने ये बात एक्सेप्ट करने में ही लग गए कि मैं सही नहीं हूं। बहुत ही भयावह दौर था वो, मैं लोगों से गुज़ारिश करूंगा कि इस बात को वो छुपाएं नहीं।”

deepika

दरअसल ये बात उस दौरान की है जब हनी सिंह का गाना धीरे-धीरे आने वाला था. गाना बहुत बड़ा सक्सेस साबित हुआ। उन्होंने कहा कि जब वे अस्वस्थ थे उस दौरान वे करीब एक साल तक अपने घर से बाहर नहीं गए थे। एक से डेढ़ सालों तक वे अपने घर पर ही थे। लोग लॉकडाउन से फ्रस्टेट हो गए हैं जबकी मैंने कुछ समय पहले ही ठीक ऐसा ही फेज जिया है।

yo_yo_honey_singh-shahrukh

बता दें कि साल 2016 में एक इंटरव्यू के दौरान हनी सिंह ने ये माना था कि वे बाइपोलर डिसऑर्डर का शिकार थे। उन्होंने इसपर कहा- मेरे पूरे परिवार और दोस्तों ने मेरी मदद की थी। यहां तक कि फिल्म इंडस्ट्री से भी कई सारे लोगों ने मेरी मदद की थी। शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण ने मेरी मदद की थी। दीपिका एक समय में खुद इस बीमारी से जूझ चुकी थीं इसलिए उन्होंने मेरी ज्यादा मदद की थी। उन्होंने मेरे लिए एक दिल्ली बेस्ड डॉक्टर भी रिकमंड किया था।

srk

अगर आपको किसी भी तरह की मदद चाहिए या किसी ऐसे को जानते हैं जिसे मदद की ज़रूरत है तो प्लीज़ आप अपने नज़दीकी मेंटल हेल्थ स्पेशलिस्ट तक पहुंचे ।

हेल्पलाइन नंबर:
आसरा: 022 2754 6669, 9820466726
स्नेहा इंडिया फाउंडेशन: +914424640050
संजीवनी: 011-24311918

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *